मथुरा के नंद बाबा मंदिर में धोखे से पढ़ी नमाज, FIR दर्ज

0
21

मथुरा के नंदगांव के नंदबाबा मंदिर में नमाज पढ़ने के फोटो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया है! हिंदू संगठन इसका जबर्दस्त विरोध कर रहे हैं! धोखे से मंदिर में नमाज पढ़ने के इस मामले में पुलिस कार्रवाई शुरू हो गई है! मंदिर प्रशासन की शिकायत पर फैजल खान और उसके दोस्त के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है! शुरुआती पूछताछ में पुलिस को पता चला है कि मंदिर में नमाज पढ़ने वाले दिल्ली की खुदाई खिदमतगार संस्था के लोग हैं! इन्होंने ही नमाज पढ़ने का फोटो सोशल मीडिया में वायरल किया था!

 

दरअसल दिल्ली की संस्था खुदाई खिदमतगार के सदस्य फैजल खान और मोहम्मद चांद, गांडीवादी कार्यकर्ता निलेश गुप्ता और आलोक रत्न के साथ नंदगांव के नंदबाबा मंदिर पहुंचे थे! दोपहर 2:00 बजे युवकों ने यहां जोहर की नमाज अदा की! युवकों ने नमाज के फोटो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिये! मामले पर मंदिर के सेवायत कान्हा गोस्वामी का कहना है कि उन्होंने नमाज अदा करने की कोई अनुमति नहीं दी थी, इन लड़कों से उनकी बातचीत जरूर हुई थी, नमाज धोखे से पढ़ी है!

 

ध्यान दें की ये वही लोग हैं जो एक कार्टून से भावनाएं आहात होने की बात करके पुरे दुनियां में आतंक फैला रहे हैं, कहीं किसी की गर्दन काट रहे तो कहीं पुतले जला रहे हैं तो कहीं गोलीबारी कर रहे हैं! और खुद दूसरों के धार्मिक स्थल में जाकर नमाज अदा कर रहे हैं, इनके साथ अब क्या होना चाहिए? वैसे इसके पीछे की मंशा भी जानने और समझने की जरूरत है! क्या इन्होने व्यक्तिगत हैसियत में ऐसा किया या इसके पीछे किसी संगठन की साजिश भी है? ये सिर्फ आपराधिक वाक्य है या हिन्दुओं की सहनशक्ति को जांचने के लिए किया गया एक प्रयोग? कहीं लव जिहाद, कहीं जनसँख्या जिहाद, कहीं जमीन जिहाद तो कहीं दिल्ली बंगलोर जैसी हिंसा, क्या ये गजवा ए हिंद का पहला चरण शुरू कर चुके हैं?

 

सवाल हिन्दुओं पर भी है की आखिर कहाँ तक तुम्हारे सहने की शक्ति है, कश्मीर से भगाए गए, चुप रहे! अब बंगाल, केरल, मेवात, पश्चिमी उप्र जैसे भारत के अन्य हिस्सों में बुरी हालत हो रही है, चुप हो! निकिता जैसी बेटियों को सडकों पर सिर्फ इसलिए मार दिया जाता है की वो लव जिहाद को मानाने से इंकार कर देती है, तुम चुप हो! कोई सबरीमाला मंदिर घुसता है, तुम चुप! कोई नंदबाबा मंदिर में नमाज पढ़ता है, तुम चुप! ये चुप्पी कहीं तुम्हारी पूरी संस्कृति को न निगल जाए एक दिन!

 

सवाल तो मंदिर के सेवायत पर भी है की नमाज धोखे से कैसे पढ़ी, और उसका विरोध क्यों तब क्यों किया, उसे नमाज पढने क्यों दिया? फ़िलहाल नमाज अदा करने के फोटो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया है, और बरसाना थाने में मंदिर के सेवायत कान्हा गोस्वामी द्वारा दी गई तहरीर के आधार पर पुलिस ने आरोपी मोहम्मद चांद समते चार युवकों के खिलाफ 153-A, 295, 505 के तहत बरसाना थाने में मुकदमा दर्ज किया है! जी न्यूज़ की रिपोर्ट के मुताबिक, एसएसपी गौरव ग्रोवर ने इस पूरे प्रकरण की जांच खुफिया विभाग को भी सौंपी है! मंदिर में नमाज पढ़ने और उसकी फोटो, वीडियो वायरल करने के पीछे आखिर क्या मंशा थी अब इसकी भी जांच की जा रही है!